[Hindi] Pillars of Democracy: Meaning, Understanding, Countries Examples

8
391
[Hindi] Pillars of Democracy: Meaning, Understanding, Countries Examples

[Hindi] Pillars of Democracy: Meaning, Understanding, Countries Examples.

Table of Contents

इस लेख के माध्यम से हम संक्षिप्त में लोकतंत्र  (Democracy) को समझने की कोशिश करेंगे। लोकतंत्र का अर्थ (Meaning of Democracy), लोकतंत्र के मुख्य तत्व (Pillars of Democracy), और दुनिया के अलग-अलग देशों के उदाहरणों के माध्यम से लोकतंत्र को समझने की कोशिश करें।

लोकतंत्र का अर्थ (Meaning of Democracy in Hindi)

लोकतंत्र दो शब्दों से मिलकर बना है। लोक + तंत्र जहां

    • लोक का मतलब ‘लोगों/ जगह’ से होता है।
    • तंत्र का मतलब ‘प्रणाम/ प्रणाली/ पद्धति/ व्यवस्था’ से है।

Democracy दो शब्दों से मिलकर बनी है, Demo + Kratos।

    • Demo का मतलब ‘लोगों’ से होता है।
    • जबकि Kratos एक ग्रीक (Greek) शब्द है जिसका अर्थ ‘व्यवस्था या शासन’ करने सें है।

लोकतंत्र चुनाव पर आधारित एक व्यवस्था है जहां सत्ताधारी वर्ग का चुनाव जनता द्वारा किया जाता है।

नोट :-

चुनावी (Election) एक प्रक्रिया है जिसमें लोगों के मतदान के द्वारा प्रतिनिधियों (Representatives) का चुनाव किया जाता है जैसे – MP, MLA, पार्षद पंच आदि।

अब हम लोकतंत्र को थोड़ा और समझ लेते हैं। उसके बाद हम लोकतंत्र के तत्व (Pillars of Democracy) पर बात करेंगे

लोकतंत्र को समझें (Understand Democracy)

लोकतंत्र (Democracy) में दो पक्ष होते हैं। एक पक्ष जो शासन करें। दूसरा पक्ष जिस पर शासन किया जाए और इनमें अनुबंध (Contract) होता है।

लोकतंत्र (Democracy) में लोग ही अपने पर शासन करते हैं (स्व-राज)।

नोट : लोकतंत्र में हम ‘शासक शब्द का इस्तेमाल नहीं करते है बल्कि ‘सरकार’ शब्द का उपयोग करते हैं।

अब्राहम लिंकन (Abraham Lincoln) :-

अब्राहम लिंकन (Abraham Lincoln) ने लोकतंत्र के लिए एक वाक्य कहा था – “लोगों के द्वारा (By the People), लोगों का (Of the People), लोगों के लिए (For the People)”

यानी कि जनता अपने प्रतिनिधियों (Representatives) का चुनाव करती है जो कि जनता में से ही होते हैं। और फिर यही प्रतिनिधि (Representatives) जनता के लिए व्यवस्था (System) को बनाए रखते हैं।

नोट :-

अगर शासन नहीं होगा तो सभी जगह अराजकता का माहौल होगा। अब वेह वह बात अलग है कि शासन जनता द्वारा हो या किसी राजा के द्वारा। लोकतंत्र में शासन जनता द्वारा किया जाता है।

लोकतंत्र के स्तंभ/तत्व (Elements/Pillars of Democracy)

अब हम बात करेंगे लोकतंत्र के तत्वों (Pillars of Democracy) के बारे में।

अगर किसी लोकतंत्र में यह तत्व कमजोर है या है ही नहीं तो वह पूर्ण रूप से लोकतंत्र नहीं कहलाता है। यानी कि लोकतंत्र में इन तत्वों का होना आवश्यक है इसके बिना लोगों का शासन नहीं कहा जा सकता है।

लोकतंत्र के तीन तत्व (Pillars) होते हैं।

    • 1st Pillar समानता (Equality)
    • 2nd Pillar स्वतंत्रता (Freedom)
    • 3rd Pillar न्याय (Justice)
      [Hindi] Pillars of Democracy: Meaning, Understanding, Countries Examples
1st Pillar समानता (Equality)

मत देने का अधिकार यानी कि लोगों की लोकतंत्र में भागीदारी। नीचे कुछ उदाहरणों के माध्यम से आपको समझने में आसानी होगी।

  • भारत :-
    • भारत में वयस्क मताधिकार की व्यवस्था है।
    • भारत के संविधान (The Constitution of India) में आजादी के बाद से ही सभी भारत के सभी लोगों को लोकतंत्र में बिना किसी भेदभाव के (जैसे – लिंग, भाषा, शिक्षा, क्षेत्र, संस्कृति एवं धर्म अन्य आधार पर) भागीदारी सुनिश्चित की।
    • अब लोकतंत्र में भागीदारी के लिए वह भारत का नागरिक होना चाहिए तथा उसकी उम्र 18 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए।
  • संयुक्त राष्ट्र अमेरिका (United States of America) :-
    • यूएसबी का संविधान 1789 में लागू हुआ था अश्वेत लोगों को मत देने का अधिकार नहीं था।
  • ब्रिटेन (Britain) :-
    • ब्रिटेन (Britain) में महिलाओं को काफी समय तक मत देने का अधिकार नहीं था।
    • भारत में ब्रिटिश शासन (British India) के दौरान भी उन्होंने पूर्ण वयस्क मताधिकार नहीं दिया था।
  • फ़िजी (Fiji) :-
    • फिजि (Fiji) मॆं अप्रवासी (Immigrant) फिजी (Fiji) लोगों की तुलना में फिजी मूल के लोगों के वोट (Vote) का मूल्य (Value) ज्यादा हुआ करती थी।
    • यानी कि यहां भी समानता का अधिकार नहीं था। (One Vote is not Equal to One Value.).

अगर आप ऊपर दिए गए कुछ उदाहरणों को देखेंगे तो समाज में कुछ लोगों को मत देने का अधिकार नहीं था या फिर उनके मत का मूल्य दूसरों की तुलना में समान नहीं था।

2nd Pillar स्वतंत्रता (Freedom) :-

लोकमान्य तिलक (Lokmanya Tilak) ने कहा था कि स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है। लोकतंत्र (Democracy) में चुनाव/मतदान का स्वतंत्रता तथा निष्पक्ष (Free and Fair Election) होना। नीचे कुछ उदाहरण दिए गए हैं जिससे आप को समझने में काफी आसानी होगी।

  • जिम्बाब्वे (Zimbabwe) :-
    • जिंबाब्वे को 1980 में उपनिवेशवादी सत्ता (Colonial Power) से मुक्ति मिली।
    • आजादी के बाद वहां हर बार चुनाव हुए लेकिन हमेशा रॉबर्ट मुगाबे (Robert Mugabe) की सरकार बनती थी।
    • वहां एक ही पार्टी पर शक्तियां केंद्रित थीं।
    • क्योंकि वहां अभिव्यक्ति की आजादी नहीं थी, मीडिया पर प्रतिबंध, आंदोलन करने का अधिकार नहीं, न्यायपालिका को भी इतने अधिकार नहीं थे।
  • पाकिस्तान (Pakistan)
    • भारत का पड़ोसी देश पाकिस्तान, भारत से एक दिन पहले ही आजाद हुआ था।
    • 1999 में जनरल मुशर्रफ (General Musharraf) ने तख्तापलट किया था।
    • फिर 2002 में वहां चुनाव कराए गए थे ऐसा कहा जाता है कि वह चुनाव स्वतंत्र रूप से नहीं हुए थे।
  • अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता (Freedom of Expression) :-
    • प्रेस मीडिया (Press Media), लोगों को विचार व्यक्त ना करने का अवसर आदि।
  • स्वतंत्र रूप से चुनने का अधिकार
    • मान लीजिए अगर किसी देश में अगर एक ही पार्टी सत्ता में बनी रहती है और वह लोगों को चुनने के लिए कोई और विकल्प उपलब्ध होने ही नहीं देती। तो हर बार उसी पार्टी का शासन रहेगा।Read More:- {Detail} Democracy in India & Other Countries – Direct लोकतंत्र
3rd Pillar न्याय (Justice)
  • ऊपर दिए गए दो तत्व समानता और स्वतंत्रता भी न्याय के अंतर्गत आते हैं।
  • अगर समानता और स्वतंत्रता नहीं होगी तो न्याय वहां कभी स्थापित नहीं हो सकता।
  • मान लिजिये अगर चुनाव स्वतंत्र और निष्पक्ष (Free and Fair Election) नहीं होते हैं तो न्यायालय को कम से कम यह अधिकार होना चाहिए कि वह चुनाव को अवैध घोषित कर सकें।

इस लोकतंत्र (Democracy) के लेख के साथ साथ आप राजतंत्र (Monarchy), साम्यवादी व्यवस्था (Communist system), तानाशाही व्यवस्था (Dictatorship) को भी समझने के लिये यहा क्लिक करें।

Read More:- Meaning of Monarchy, Dictatorship and Communism System in Hindi

Read More:- ईश्वर को समझने का अवसर – What is God – Where is God? Where is the God at the time of Lockdown?

दोस्तों हमें उम्मीद है कि आप को लोकतंत्र का अर्थ (Meaning of Democracy), उसकी समझ, इससे जुड़े महत्वपूर्ण तत्व (Important Pillars of Democracy) अच्छे से समझ में आए होंगे

आप हमें अपने सवाल और सुझाव कमेंट कर सकते हैं। ऐसी Post की जानकारी के लिए आप Notification “Allow” करना ना भूलें।

धन्यवाद.!

जय हिन्द जय भारत..!!

By HimanshuAgrawal24

8 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here